राजस्थान में 80 प्रतिशत तक की सब्सिडी पर खुलेंगे 100 कस्टम हायरिंग सेंटर (CHC)

आज के किसान के लिए खेती में कृषि यंत्र बहुत जरुरी हो गए है, इनसे समय के साथ साथ श्रम भी कम लगता है। फसल की बिजाई से कटाई तक तरह-तरह के कृषि यंत्रो का प्रयोग किया जाता है । इन यंत्रो की ज्यादा कीमत होने के कारण हर किसी किसान के लिये आर्थिक रूप से सभी प्रकार के कृषि यंत्र खरीद पाना बहुत मुश्किल होता है। सरकार द्वारा कई नयी योजनायो भी निकाली गई है जिनके तहत कृषि यंत्रो में सब्सिडी भी प्रदान की जाती है फिर भी किसान खरीदने में असमर्थ होते है इसलिय सरकार द्वारा कस्टम हायरिंग सेंटर (CHC) की स्थापना तेजी से की जा रही है। कस्टम हायरिंग सेंटर (CHC) से किसान किराये पर कृषि यंत्र का उपयोग कर सकते है, और यह किराया सरकार द्वारा निर्धारित किया जाता है, जिससे की किसानो से कोई ज्यादा किराया ना ले सके।

राजस्थान में किराये पर कृषि यंत्र उपलब्ध कराये जाने के लिये 100 कस्टम हायरिंग सेंटर(CHC) की स्थापना की जाएगी जिसके लिये एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट ने कोआपरेटिव डिपार्टमेंट को 8 करोड़ रुपए एडवांस में दे दिये है। 

कस्टम हायरिंग सेंटर(CHC) पर सब्सिडी

राजस्थान के कृषि मंत्री श्री लाल चंद कटारिया ने यह बताया है की नेशनल मिशन फोर एग्रीकल्चरल एक्सटेंशन एंड टेक्नोलॉजी के सब-मिशन ऑन एग्रीकल्चर मैकेनाइजेशन के अंतर्गत के कुछ चुने हुए गांवों में कस्टम हायरिंग केन्द्रों की स्थापना की जाएगी। किसान लाभ हेतु इसके अंतर्गत ट्रेक्टर में लगने वाले कृषि यंत्रो की खरीदी रकम का 80 प्रतिशत अधिकतम 8 लाख रुपये का अनुदान दिया जाएगा। जो किसान मंहगे कृषि उपकरण खरीदने में सक्षम नहीं होते है वो इसका लाभ उठा पाएगे। मजदूरों पर निर्भर होने पर कई बार फसल की बिजाई और कटाई समय पर पूरी नहीं कर पाते है जिससे काफी नुक्सान होने की सम्भवाना होती है। यंत्रो के उपयोग से कार्य जल्दी खत्म होगा और किराया भी कम लगेगा।

राजस्थान के ज़िलों में कस्टम हायरिंग सेंटर (CHC) स्थापित की शंख्या:

जिलाCHC
 राजसमन्द12
प्रतापगढ़7
जयपुर6
श्री गंगानगर, बांसवाड़ा और बीकानेर5
भीलवाड़ा, हनुमानगढ़,चूरू और दौसा4
कोटा,भरतपुर,झालावाड़, बूंदी, चित्तौड़गढ़ औरअलवर3
सीकर, नागौर, बाड़मेर, अजमेर, डूंगरपुर, झुंझुनूं, जोधपुर, पाली, जैसलमेर और टोंक2
 धौलपुर, सवाई माधोपुर और करौली1
राजस्थान सेंटर (CHC) स्थापित की जाने वाली शंख्या

अब किसान को भी मिलेगी 3000 रुपए पेंशन हर महीने, जाने रेगिस्ट्रशन की पूरी जानकरी-प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *